vrindavan

लाख बार हरि हरि कहो एक बार हरिदास अति प्रसन्न श्री लाड़ली, देत विपिन को वास |
– ब्रज रसिक 

श्री राधारानी को अपने भक्त इतने प्रिय हैं यदि कोई भक्त भगवान हरि के नाम का एक लाख बार जाप करता है और केवल एक बार श्री राधा कृष्ण के भक्त “हरिदास” के नाम को जपता है, तो श्री राधारानी अपने भक्त के एक बार ही नाम जपने से बेहद प्रसन्न हो जाती हैं और उन्हें तुरंत अपने निज महल वृंदावन में वास दे देती हैं |